पद्मनाभ मन्दिर का रहस्य | Secrets of Padmanabha Temple | world richest temple in india

Published on Sep 8, 2018
2303047 views
Pratapgarh HUB

पद्मनाभ मन्दिर का रहस्य | Secrets of Padmanabha Temple | world richest temple in india

विश्व का सबसे धनी और रहस्यमई मंदिर है अनंतनाग पद्मनाभस्वामी मंदिर ।
जिसके नीचे 7 गुप्त दरवाजे हैं। हाईकोर्ट के आदेश पर इनमें से 6 को जब खोला गया तो इतनी संपत्ति प्राप्त हुई जिसे पूरे भारतवर्ष के व्यक्तियों में बाँट दी जाए तो सब को ₹20000 अवश्य प्राप्त होंगे। लेकिन सातवां दरवाजा खोलने के लिए आज तक किसी ने हिम्मत नहीं की। कुछ लोगों का मानना है कि वह सातवां दरवाजा खोलने से पूरे विश्व में प्रलय आ सकती है। कुछ कहते हैं कि वह दरवाजा आपको भगवान तक ले जाता है। और कुछ कहते हैं उस दरवाजे के पीछे एक ऐसा रहस्यमई नाग है जो भगवान विष्णु का सेवक है जिसे अनंतनाग के नाम से पुकारा जाता है। अगर दरवाजा खुला तो कुछ ऐसा होगा जिसकी कल्पना कोई नहीं कर सकता। आइये ऐसे रहस्यों से भरे पद्मनाभ मंदिर के सत्य को समझने का प्रयास करते हैं।

--------------------------------
पद्मनाभस्वामी मंदिर भारत के केरल राज्य के तिरुअनन्तपुरम में स्थित भगवान विष्णु का प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर है। भारत के प्रमुख वैष्णव मंदिरों में शामिल यह ऐतिहासिक मंदिर तिरुअनंतपुरम के अनेक पर्यटन स्थलों में से एक है। पद्मनाभ स्वामी मंदिर विष्णु-भक्तों की महत्वपूर्ण आराधना-स्थली है। मंदिर की संरचना में सुधार कार्य किए गए जाते रहे हैं। उदाहरणार्थ 1733 ई. में इस मंदिर का पुनर्निर्माण त्रावनकोर के महाराजा मार्तड वर्मा ने करवाया था। पद्मनाभ स्वामी मंदिर के साथ एक पौराणिक कथा जुडी है। मान्यता है कि सबसे पहले इस स्थान से विष्णु भगवान की प्रतिमा प्राप्त हुई थी जिसके बाद उसी स्थान पर इस मंदिर का निर्माण किया गया है।

मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु की विशाल मूर्ति विराजमान है जिसे देखने के लिए हजारों भक्त दूर दूर से यहाँ आते हैं। इस प्रतिमा में भगवान विष्णु शेषनाग पर शयन मुद्रा में विराजमान हैं। मान्यता है कि तिरुअनंतपुरम नाम भगवान के 'अनंत' नामक नाग के नाम पर ही रखा गया है। यहाँ पर भगवान विष्णु की विश्राम अवस्था को 'पद्मनाभ' कहा जाता है और इस रूप में विराजित भगवान यहाँ पर पद्मनाभ स्वामी के नाम से विख्यात हैं।

तिरुअनंतपुरम का पद्मनाभ स्वामी मंदिर केरल के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है। केरल संस्कृति एवं साहित्य का अनूठा संगम है। इसके एक तरफ तो खूबसूरत समुद्र तट है और दूसरी ओर पश्चिमी घाट में पहाडि़यों का अद्भुत नैसर्गिक सौंदर्य, इन सभी अमूल्य प्राकृतिक निधियों के मध्य स्थित- है पद्मनाभ स्वामी मंदिर। इसका स्थापत्य देखते ही बनता है मंदिर के निर्माण में महीन कारीगरी का भी कमाल देखने योग्य है।

अधिक जानकारी के लिए इस लिंक को देखें-
http://hi.wikipedia.org/wiki/पद्मनाभ...

Padmanabhaswamy Temple is located in Thiruvananthapuram, Kerala, India. The temple is built in an intricate fusion of the indigenous Kerala style and the Tamil style (kovil) of architecture associated with the temples located in the neighbouring state of Tamil Nadu, featuring high walls, and a 16th-century Gopuram. While the Moolasthanam of the temple is the Ananthapuram Temple in Kumbala in Kasargod District, architecturally to some extent, the temple is a replica of the Adikesava Perumal temple located in Thiruvattar, Kanyakumari District.
for more information visit this link
http://en.wikipedia.org/wiki/Padmana...
-----------------------------------------------
प्रतापगढ़ हब के बारे में और जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-
http://www.pratapgarhup.in

प्रतापगढ़ हब फेसबुक पेज को लिखे करें-
http://www.facebook.com/pratapgarh.hub

Twitter पर प्रतापगढ़ हब को follow करें-
http://twitter.com/PratapgarhHUB

Google+ पेज पर प्रतापगढ़ हब को follow करें-
http://plus.google.com/+Pratapgarhhub

इस वीडियो को बनाया और एडिट किया गया है ब्रेन्स नेत्र लैब में
http://www.brainsnetralab.in


Loading...


Loading...